क्षिप्रा

आस्थारूपी भरे कलशों के बीच गुंजा हर हर महादेव का जयघोष, खेड़ापति महादेव का हुआ जलाभिषेक

क्षिप्राखबर @ क्षिप्रा। युवाओं के कंधे पर आस्था की कावड़, महिलाओं के सिर पर आस्थारूपी जल से भरे कलश और गूंजते बोल बम के जयघोष के साथ सावन मास के चतुर्थ सोमवार को क्षेत्र के बूढ़ी बरलाई (खेड़ा) के श्रद्धालुजनो ने कावड़-कलश यात्रा निकाली। सर्वप्रथम यात्रा क्षिप्रा नदी तट पहुँची जहा कावड़ियों ने कलश में जल लिया। विश्वपति महादेव मंदिर से जल भर आरंभ हुईं कावड़ यात्रा नगर भृमण करते हुए खेड़ापति महादेव मंदिर पहुंची। यहां भोलेनाथ का जलाभिषेक किया। यात्रा में सैकड़ों की संख्या में बच्चे और महिलाएं-पुरुष शामिल हुए।

                     कलश कावड़ यात्रा डीजे-ढोल एवं डमरू की मधुर ध्वनि के साथ प्रातः 10 बजे आरंभ हुई। यात्रा क्षिप्रा नदी तट से नगर भृमण करते हुए खेड़ापति महादेव मंदिर पहुँची। जहा कावड़ियों ने भगवान शिव का जलाभिषेक किया। यात्रा के दौरान भक्तजनों ने जगह जगह पुष्पवर्षा कर भव्य स्वागत किया। यात्रा में शिव और उनके गणों का रूप धर बच्चे शामिल हुए जो आकर्षण का केन्द्र रहे। कावड़ यात्रा के साथ ही पालकी में विराजित होकर भोलेनाथ भगवान ने भी नगर भ्रमण किया। भक्तो ने जगह जगह पूजन दर्शन कर आशीर्वाद लिया। रविवार को पीरकराड़िया क्षिप्रा के भक्तजनों द्वारा माँ क्षिप्रा कावड़ यात्रा निकाली जाएगी। जो चैतन्य श्री वीर वनखण्डी हनुमान मंदिर पीरकराड़िया से बिलावली के महाकालेश्वर मंदिर तक निकलेगी। 6 अगस्त को यात्रा प्रातः 8 बजे आरम्भ होगी।

फ़ोटो : सोमवार को बूढ़ी बरलाई से निकली कलश-कावड़ यात्रा के दौरान सैकड़ो महिलाए भी शामिल हुई

You cannot copy content of this page

error: Content is protected !!