क्षिप्रा

कावड़ लेकर निकले शिशु मंदिर के विद्यार्थी

क्षिप्राखबर @ क्षिप्रा। सरस्वती शिशु मंदिर में किताबी शिक्षा के साथ साथ सनातन धर्म के त्योहारों के बारे में भी शिक्षा दी जाती है। समय समय पर आने वाले सभी त्योहारों को विद्यालय में बड़े उल्लास के साथ मनाया जाता है। जिससे बच्चे अपने त्योहारों ओर संस्कृति के महत्व को भी समझ सके। इसी कड़ी में आज विद्यालय से श्रावण महोत्सव शोभा यात्रा बहुत ही भव्यता ओर उल्लास के साथ निकली। यात्रा में विद्या भारती के पांच आधारभूत विषयो में से एक नैतिक और आध्यात्मिक शिक्षा के साथ साथ भारतीय संस्कृति के भी दर्शन हो रहे थे। विद्यालय के भैया कावड़ यात्री के रूप में तो बहिने, दीदियां, माताएं शुभ्र वेश में सिर पर कलश लेकर निकली। भगवान शंकर एवं भगवान श्रीराम की सजीव झांकी आकर्षण का केंद्र रही। विद्यालय के भय्याओ ने साहसिक करतब दिखाया।

यात्रा विद्यालय प्रांगण से पुराने एबी रोड़, बरलाई रोड़, सर्विस रोड़ होते हुए बूढ़ी बरलाई से सीधे शिप्रा तट स्तिथ श्री विश्वपति महादेव मंदिर पहुँची जहा भगवान भोलेनाथ का जलाभिषेक हुआ। इस अवसर पर समिति के अध्यक्ष श्री राजेंद्र जी पटेल, समिति के सदस्य श्री हुकुम जी पटेल, श्री विष्णु जी बंसल और प्राचार्य श्री राकेश दुबे, पूर्व छात्र, अभिभावकगण आदि बड़ी संख्या में उपस्थित थे। जानकारी विद्यालय के प्रचार प्रमुख योगेन्द्र दुबे ने दी।

You cannot copy content of this page

error: Content is protected !!