क्षिप्रा

कॉपीराइट मामला : ब्रांडेड कम्पनी के नाम बन रहा था नकली माल, कम्पनी और पुलिस का संयुक्त छापा, लाखो का माल जब्त

क्षिप्राखबर @ क्षिप्रा। ब्रांडेड कम्पनी का नाम उपयोग कर नकली माल का उत्पादन बड़ी मात्रा में किया जा रहा था। गुरुवार को कल्याण मिल (केटीसी फूड) के गोडाउन में क्षिप्रा थाना पुलिस एवं कम्पनी के लीगल एडवायजर टीम ने संयुक्त छापा मारा। इस दौरान ब्रांडेड कंपनी “स्वादिस्ट” के नाम का गलत उपयोग करते हुए भारी मात्रा में आटा तैयार किया जा रहा था। फरियादी तरुण दम्माणी की सूचना पर पुलिस ने पीरकराड़िया क्षिप्रा के कल्याण मिल में दबिश देकर बड़ी मात्रा में कंपनी के नाम से भरे आटे के पैकेटों समेत करीब 25 लाख रुपये का सामान बरामद कर सील कर दिया गया।

दम्माणी ब्रदर्स के लीगल एडवाइज़र नवकार एसोसिएट्स के अधिवक्ता नम्रता जैन ने बताया कि कंपनी को लगातार शिकायत मिल रही थी की इंदौर-देवास की कम्पनिया और दुकानदारों के द्वारा स्वादिस्ट गोल्ड के नाम से आटा बेचा जा रहा है, जो की हूबहू स्वादिस्ट की तरह दिखता है। कंपनी दम्माणी ब्रदर्स के रजिस्टर्ड व्यापार चिन्ह और रजिस्टर्ड कॉपीराइट स्टाइल का उल्लंघन कर स्वादिस्ट गोल्ड के नाम से आटा मार्केट में बेचा जा रहा है। इससे उपभोक्ताओं के भरोसेमंद उत्पाद की गुणवत्ता के साथ खिलवाड़ किया जा रहा था। दम्माणी ब्रदर्स द्वारा दिल्ली वाणिज्यीक न्यायालय में नवकार एसोसिएट्स के अधिवक्ता नम्रता जैन, विजय सोनी, प्रतीक केशरी द्वारा वाद दायर किया गया। दिल्ली कोर्ट के द्वारा नियुक्त लोकल कमिश्नर सीमा तिवारी ने क्षिप्रा पुलिस के साथ संयुक्त छापा मारकर करीब 25 लाख रुपयों का माल जब्त कर लिया है। इसके पूर्व इंदौर, देवास ओर धार जिलो में भी लगातार छापामार कार्यवाही कर नकली कम्पनियों को सील करवाया गया है। क्षिप्रा थाना पुलिस ने बताया कि केटीसी फूड कम्पनी के मालिक के खिलाफ़ धारा 420 एवं कॉपी राइट एक्ट की धारा 51, 63 एवं 65 के तहत प्रकरण दर्ज कर सामान को सील कर दिया गया है।

फोटो : सामान को जब्त करते हुए कम्पनी के एडवाइजर्स

You cannot copy content of this page

error: Content is protected !!