क्षिप्रा

क्षिप्रा नदी में प्रतिमाओं के विसर्जन पर रहेगा प्रतिबंध, विसर्जन के लिए यहां रहेगी व्यवस्था

क्षिप्राखबर @ क्षिप्रा। अनंत चतुर्दशी पर गणपति प्रतिमा विसर्जन को लेकर ग्राम पंचायत और पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के साथ ही क्षिप्रा नदी को प्रदूषण मुक्त बनाने को लेकर विशेष प्लान बनाया  है। क्षिप्रा नदी का जल दूषित नहीं हो इसके लिए क्षिप्रा नदी में प्रतिमाओं के विसर्जन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। गुरुवार को अब चिह्नित स्थानों पर ही प्रतिमाओ का विसर्जन करवाया जाएगा।
ग्राम पंचायत क्षिप्रा सुखल्या के सरपंच विश्वास उपाध्याय ने बताया कि इस वर्ष भी क्षिप्रा नदी में प्रतिमाओं का विसर्जन नहीं किया जाएगा। गोविंदपुरा तालाब में विसर्जन की व्यवस्था की गई है। अच्छी बारिश से क्षिप्रा नदी व आसपास के तालाब लबालब भरे हुए है। ऐसे में छोटे बच्चों को भी विसर्जन स्थलों से दूर रखा जाएगा। ग्राम पंचायत ने विसर्जन के दौरान विद्युत की पर्याप्त व्यवस्था की है ताकि रात के समय लोगों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। इसके साथ ही दिशा निर्देश हेतु बैनर लगाए है। यदि कोई क्षिप्रा नदी में प्रतिमाएं विसर्जन के लिए आता है तो पंचायत के वाहन द्वारा विसर्जन स्थल तक मूर्तियों को पहुँचाया जाएगा।
होमगार्ड और तैराक एवं पुलिसबल रहेंगे मौजूद…
विसर्जन स्थल गोविंदपूरा तालाब के आसपास होमगार्ड जवान तैनात रहेंगे। व्यवस्थाओं पर नजर रखने के लिए पुलिस जवान की ड्यूटी भी लगाई जाएगी। क्षिप्रा नदी के दोनों पुलो पर क्षिप्रा थाना एवं औद्योगिक थाना के जवान निगरानी करेंगे ताकि पुल पर से कोई मूर्ति या किसी प्रकार की विसर्जन सामग्री नही प्रवाहित कर सके।
घर पर भी कर सकते विसर्जन…
यदि आपके यहाँ मिट्टी के गणेश विराजित किये हो तो मिट्टी की छोटी प्रतिमाओ का विसर्जन बगीचे या घर में टब बनाकर कर सकते हैं।

You cannot copy content of this page

error: Content is protected !!