क्षिप्रा

गंदगी से पटे घाटो को स्वयंसेवको ने कर दिया चकाचोंध

क्षिप्राखबर @ क्षिप्रा। मोक्षदायिनी माँ क्षिप्रा नदी का जलस्तर कम होने के बाद नदी के पक्के घाट मिट्टी और मलबों से पट गए थे। जिसकी सफाई ग्राम पंचायत के लिए चुनोती की तरह उभर रही थी। कई दिनों से कचरो से पटे होने के बावजूद जब पंचायत ने सुध नही ली तो शुक्रवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की “माँ क्षिप्रा शाखा” अपने दर्जनभर से अधिक स्वयंसेवकों को लेकर क्षिप्रा के नवीन घाट पर पहुँची। सुबह 10 बजे पहुँचे क्षेत्र के स्वयंसेवको ने दो टेंकर पानी से करीब दो घण्टो में घाटो को चकाचोंध कर दिया। इसके दो दिन पूर्व नदी में जमी हुई जलकुंभी को जेसीबी की मदद से हटाया गया था। स्वयंसेवकों ने बताया की मोक्षदायिनी माँ क्षिप्रा को प्रदूषण मुक्त करना हमारी जिम्मेदारी है। घाट सफाई में स्वयंसेवक गौरीशंकर जायसवाल, विष्णु बंसल, स्वपनिल भँवर, नीरज राजा पटेल, पंकज पटेल, केदार पटेल, आकाश मांगरोले, बंटी पटेल, मनीष पटेल का विशेष सहयोग रहा।

You cannot copy content of this page

error: Content is protected !!