उज्जैन

महाकाल मंदिर प्रबंध समिति और उज्जैन महापौर ने शहर वासियो के लिया यह बड़ा निर्णय

क्षिप्राखबर @ उज्जैन। विश्व प्रसिद्ध बाबा महाकाल की भस्म आरती देश विदेश में मशहूर है। महाकाल मंदिर में आए दिन सेलेब्रिटियों और राजनेताओं का दर्शन करने में सिलसिला लगातार लगा रहता है। महाकाल मंदिर प्रबंध समिति की समय-समय पर बैठक होती है। लेकिन इस बार गुरुवार को हुई बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए

उज्जैन के नागरिकों के लिए अब प्रति मंगलवार भस्म आरती निःशुल्क…
उज्जैन नगर निगम सीमा में निवासरत नागरिकों के लिए अब महाकाल मंदिर में प्रति मंगलवार भस्म आरती दर्शन व्यवस्था निशुल्क की गई है। उज्जैन महापौर मुकेश टटवाल ने बताया कि यह व्यवस्था हमारे शहर के नागरिकों के लिए विशेष तौर पर मुहैया कराई गई है।

पहले उज्जैन के नागरिकों कों भी देना पड़ता था शुल्क…
अभी भस्म आरती परमिशन के लिए मंदिर समिति प्रति व्यक्ति 200 सशुल्क चार्ज लेती है। अब सप्ताह में 1 दिन मंगलवार को केवल उज्जैन शहर के नागरिकों के लिए निशुल्क व्यवस्था रहेगी, जो आधार कार्ड को आधार बनाकर फ्री ऑफ कॉस्ट व्यवस्था बनाई जाएगी।

400 उज्जैन के रहवासी ले सकेंगे लाभ…
महापौर की पहल पर सावन भादो मास के दौरान अवंतिका द्वार की शुरुआत कर उज्जैन के नागरिकों के लिए अलग से दर्शन व्यवस्था लागू कराई गई थी, जिसे नागरिक ने काफी सराहा भी था। उज्जैन महापौर मुकेश टटवार का कहना है कि सारे बिंदु हमारे संज्ञान में हैं। शुल्क लागू करना और उसे खत्म करना यह एक प्रक्रिया का हिस्सा है। आगे भी समय-समय पर परिवर्तन समय की मांग अनुसार देखने को मिल सकते हैं।

You cannot copy content of this page

error: Content is protected !!