क्षिप्रा

माँ क्षिप्रा के जल से हुआ श्री महाकालेश्वर का अभिषेक….

20 किमी पैदल चलकर क्षिप्रा से बिलावली पहुँचे कावड़िये…

क्षिप्राखबर @ क्षिप्रा। पावन पवित्र एवं भगवान शिव के प्रिय श्रावण माह में लगातार क्षेत्र में कावड़ यात्रा निकाली जा रही है। भगवान आशुतोष को रिझाने के लिए पीरकराड़िया के श्रद्धालुओं ने रविवार को कावड़ एवं कलश यात्रा निकाली।यात्रा सुबह 8 बजे चैतन्य श्री वीर वनखण्डी हनुमान मंदिर के समीप क्षिप्रा नदी तट पर विराजित बाबा मनकामनेश्वर महादेव जी के प्रांगण से आरंभ हई।

कावड़ यात्रा के पूर्व माँ क्षिप्रा एवं भगवान भोलेनाथ की आरती की गई। पश्चात कावड़ एवं कलश में जल भर की पूजन-अर्चन कर कावड़ यात्रा का आगाज हुआ। रिमझिम बारिशो की बूंदों के बीच कावड़ यात्रा में जहां पुरुष एवं महिलाएं कावड़ उठाकर चल रहे थे तो वही छोटे छोटे बच्चों में भी कावड़ यात्रा को लेकर खासा उत्साह देखा जा रहा था। क्षिप्रा में दर्जनभर से अधिक स्वागत मंच लगाए गए जहां विभिन्न संस्थाओं एवं प्रतिष्ठानों द्वारा पुष्पवर्षा से स्वागत किया।

क्षिप्रा नदी तट से पीरकराड़िया, बरलाई रोड़ से बायपास होते करीब 20 किलोमीटर पैदल चलकर श्रद्धालु बिलावली के श्री महाकालेश्वर मंदिर पहुचें। यहां पर भोलेनाथ का माँ क्षिप्रा के पवित्र जल से अभिषेक किया गया। इस दोरान ढोल-धमाको के साथ डीजे डमरू की सुमधुर धुन एवं भगवान शिव की झांकी आकर्षण का केंद्र रही।

फ़ोटो : कावड़ियों ने बिलावली पहुँचकर भगवान श्री महाकालेश्वर का माँ क्षिप्रा के पवित्र जल से अभिषेक किया

You cannot copy content of this page

error: Content is protected !!