क्षिप्रा

मौसम ने तोड़ा दम तो बिजली विभाग भी किसानों को रुला रहा

क्षिप्राखबर @ क्षिप्रा। सुबह से ही आग उगल रहे सूरज ने लोगों को झुलसा रखा है। धूप की तपिश, गर्मी, उमस ने दिन में लोगों का बाहर निकलना मुश्किल बना दिया है। ऐसे में किसानों को सबसे ज्यादा दिक्कत हो रही है।शिप्रा ओर आसपास के इलाकों में इन दिनों किसानों ने सोयाबीन की फसल बोई हुई है। कड़ाके की धूप और उमस भरी गर्मी है। आसमान में काले बादल छाते जरूर हैं लेकिन बदरा बरसते नहीं हैं। जिससे सोयाबीन की फसल पर खतरा मंडरा रहा है। मौसम के प्रकोप के साथ ही किसानों को बिजली कम्पनियों ने भी बड़ा झटका दिया है। खेतो की बिजली 10 घण्टे से घटकर मात्र 6 घण्टे ही रह गयी है। किसान पूरी तरह से फसलों को पानी देने में असक्षम है। इससे किसान बेहद परेशान भी हैं। यदि दो-चार दिन और बारिश नहीं होती है या पूर्ण रूप से खेतों की बिजली समय मे बढ़त नही होती है तो, फसलों में भारी नुकसान के साथ उत्पादन भी घट जाएगा।

ग्राम बरलाई जागीर के किसान संजय डाबी ने बताया कि सोयाबीन की फसल पर इल्लियों का प्रकोप बढ़ने लगा है। पानी नही मिलने के कारण फसल बिल्कुल सूखने के कगार पर है और मौसम की मार के बाद भी हम किसान सिंचाई के माध्यम से ही सोयाबीन की फसल को जीवित रखने का प्रयत्न कर रहे है। मगर बिजली विभाग से बिजली पर्याप्त नही मिल रही।

You cannot copy content of this page

error: Content is protected !!