क्षिप्रा

राममय हुआ क्षिप्रा, ऐतिहासिक दिवस पर जगह जगह हुए धार्मिक अनुष्ठान

क्षिप्राखबर @ क्षिप्रा। अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर शिप्रा, बरलाई, अर्जुन बरोदा, सुखल्या, नगोरा, हतुनिया, पुआर्डला के कई मंदिरों में सोमवार को धार्मिक अनुष्ठान व भंडारे हुए। क्षेत्र के हर गली-मोहल्ले में दीपावली जैसा माहौल रहा और राम नाम की गूंज रही। मानो लग रहा है कि त्रेतायुग धरती पर उतर आया है। प्रभु के 14 वर्ष के वनवास से आगमन जैसा ही जश्न देखने को मिल रहा है। जन-जन में राम भक्ति की लहर रही। चारों ओर हर कोई राम की भक्ति में ही डूबा हुआ नजर आया। बरलाई रोड़ स्तिथ श्री विघ्न विनाशक चिंताहरण गणेश मंदिर, बुढ़ी बरलाई के श्री राम मंदिर, भद्रकाली माता मंदिर, नदी तट स्तिथ श्री विश्वपति महादेव मंदिर, श्री सिद्धपति हनुमान मंदिर, पीरकराड़िया के गायत्री माता मंदिर, श्री राम मन्दिर श्री वनखंडी हनुमान मंदिर, पुआर्डला रोड़ के श्री खेड़ापति हनुमान मंदिर की विशेष लाइटों से सजावट की गई। मन्दिरो के अलावा गली मोहल्लों में भी भव्य विद्युत सज्जा की गई थी जो देखते ही बन रही थी।सड़को पर अद्भुत रंगोलियां राहगीरों को आकर्षित कर रही थी। चारों ओर भगवा ध्वज फहरा रहे थे। इससे समूचे क्षेत्र की आभा मनोहारी लग रही थी। प्रतिदिन की तरह सोमवार को भी बड़ी संख्या में भक्त प्रभातफेरी में कीर्तन करने पहुँचे। रामलला प्राण प्रतिष्ठा के शुभ मुहूर्त पर क्षेत्र के कई मन्दिरो में भी प्राण प्रतिष्ठा का आयोजन किया गया। इसके पहले भव्य शोभायात्रा निकाली गई जिनमे बाल स्वरूप में भगवान राम, लक्ष्मण, सीता माता, भक्त हनुमान के वेश में सजीव झांकियो से मन मोह रहे थे। सुखल्या, पुआर्डला में भगवान रामलला के मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा हुई तो वही पीरकराड़िया के श्री राम मंदिर में भगवान भोलेनाथ की प्राण प्रतिष्ठा हुई। मौका था अयोध्या में भव्य प्राण प्रतिष्ठा का तो राम मंदिर में भोलेनाथ की प्राण प्रतिष्ठा के बाद उन्हें रामेश्वरम महादेव के रूप में विराजित किया गया।मंदिरों में सुबह से शाम तक धार्मिक आयोजन के अलावा लोगो ने भी अपने-अपने घरों और प्रतिष्ठानों में भगवान की पूजा-अर्चना कर शाम को दीप जलाए। बड़ी संख्या में लोग शिप्रा तट पहुँचे जहां दीपदान किया गया। संध्या काल मे दियो की रोशनी से दोनों घाट जगमगा रहे थे। शिप्रा तट पर रामभक्तों ने भव्य आतिशबाजी भी की जिसे बड़ी संख्या में लोग देखने पहुंचे। बरलाई रोड़ पर भजन संध्या का आयोजन किया गया था। प्रसिद्ध भजन गायक गन्नू महाराज ने भगवान श्रीराम-सीता, लक्ष्मण और हनुमान जी के भजन प्रस्तुत किए। जिनपर भक्तों ने मंत्रमुग्ध होकर नृत्य किया। श्रद्धालुओं ने जय जय श्रीराम का जयघोष किया। जिससे पूरा वातावरण राममय हो गया।

 

You cannot copy content of this page

error: Content is protected !!