क्षिप्रादेवास

लेंड पुलिंग योजना : सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा पत्र, जाने कौनसा सही और कोनसा है गलत

अफवाह फैलाने वाले व्यक्ति पर भी वैधानिक कार्यवाही करने बाबत थाने में दिया आवेदन

क्षिप्राखबर @ क्षिप्रा/देवास। क्षेत्र और आसपास के गांवों में इन दिनों एक पत्र खूब वायरल हो रहा है। जिसमे मध्यप्रदेश इंड्रस्ट्रीयल डेवलपमेंट कार्पोरेशन द्वारा प्रस्तावित “लेंड पुलिंग योजना के निरस्त” होने की सत्य जानकारी को अफवाह के रूप में दर्शाकर किसानो को भ्रमित किया जा रहा है। भ्रम फैलाने के उद्देश्य से यह पत्र जारी करने वाले लोगो के ख़िलाफ़ वैधानिक कार्यवाही करने जनप्रतिनिधियों ने औद्योगिक थाने पर लिखित आवेदन के रूप में शिकायत की है। उक्त पत्र कार्यालय परीक्षण पर असत्य, फर्जी और कूट रचित होना पाया गया है।


हाटपिपल्या विधानसभा क्षेत्र के 28 गांव सहित देवास जिले के 32 गांवों में प्रस्तावित लैंड पुलिंग योजना के निरस्त हेतु मांग की गई थी। किसानों के हित में निर्णय लेते हुए योजना को निरस्त करने की घोषणा 31 जुलाई को MPIDC द्वारा पत्र के माध्यम से की गयी थी। लेकिन इन दिनों सोशल मीडिया पर एक पत्र खूब वायरल हो रहा है जिसमे इस योजना के निरस्त होने की जानकारी को अफवाह बताया जा रहा है। मध्यप्रदेश इंड्रस्ट्रीयल डेवलपमेंट कार्पोरेशन के कार्यपालिक संचालक राजेश राठौड़ ने बताया कि
देवास जिले में “लेंडपुलिंग योजना के निरस्त होने की जानकारी मात्र अफवाह है” के संबंध में कोई भी पत्र मध्यप्रदेश इंड्रस्ट्रीयल डेवलपमेंट कार्पोरेशन द्वारा जारी नहीं किया गया है। इस तरह का कोई भी पत्र प्रबंध संचालक द्वारा या प्रबंध संचालक एमपीआईडीसी के कार्यालय द्वारा जारी नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि इस तरह के कुटरचित पत्र जारी करने वाले तथा लोगो को भ्रमित करने वाले व्यक्तियों पर कार्रवाई की जायेगी।

वीडियो में देखे क्या कहा जनप्रतिनिधियो ने…



योजना को निरस्त करने की घोषणा

योजना को निरस्त करने की घोषणा को अफवाह बताने वाला यह पत्र हो रहा वायरल 


You cannot copy content of this page

error: Content is protected !!