क्षिप्रा

शाउमावि में मनाया कारगिल विजय दिवस, शहीदो को दी गई श्रद्धांजलि

क्षिप्राखबर @ क्षिप्रा। खेल एवं युवा कल्याण विभाग और शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में कारगिल विजय दिवस मनाया गया। यह आयोजन क्षिप्रा के शाउमावि परिसर में आयोजित किया गया। खेल युवा कल्याण विभाग के खेल अधिकारी हेमंत शूरवीर, शाउमावि के प्राचार्य राजीव सूर्यवंशी, विद्यालय के शिक्षकगण एवं छात्र-छात्राओं द्वारा भारत माता एवं कारगिल युद्ध में शहीद जवानों को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

जिला खेल अधिकारी हेमंत सुरवीर द्वारा छात्र छात्राओं को कारगिल युद्ध के बारे में सम्बोधित करते हुए कहा कि भारत-पाकिस्तान के बीच लगभग दो माह तक चले इस युद्ध के लिए भारतीय सेनाओं द्वारा चलाए गए ‘ऑपरेशन विजय’ से सफल होने की घोषणा 14 जुलाई को की गई थी। 26 जुलाई को यह युद्ध पूरी तरह से समाप्त हो गया था। इसके परिणामस्वरूप प्रत्येक वर्ष 26 जुलाई को “कारगिल विजय दिवस” के रूप में मनाया जाता है। इस वर्ष कारगिल विजय दिवस की 24वीं वर्षगांठ है। इसी के साथ कारगिल विजय दिवस पर जो शहीद हुए उनके बारे में संक्षेप में वर्णन करते हुए बताया कि कैप्टन मनोज पांडेय, राइफलमैन सुनील जंग, लांसनायक केवलानंद द्विवेदी, कैप्टन आदित्य मिश्र और मेजर रीतेश शर्मा जैसे जांबाजों के पराक्रम के आगे दुश्मन के नापाक मंसूबे ध्वस्त हो गए थे। इन रणबांकुरों ने मातृभूमि की रक्षा करते हुए अपने प्राण न्योछावर कर विजय पताका फहराई थी।


कारगिल दिवस पर बच्चों को खेल की अनेक गतिविधियाँ भी स्कूल परिसर में कराई गई। इसी के साथ स्वच्छता की शपथ दिलाई गई। विद्यालय के बच्चों को पेन और फुटबॉल आदि खेल सामग्री दी गई। इस अवसर पर वरिष्ठ शिक्षक कैलाश चंद्र सोनी, बद्रीलाल मंडलोई, साबिर शेख, अर्जुन सिंह मालवीय, अर्जुन सिंह बैस, बाबूलाल पटेल, रजनीश मलतारे, हरि नारायण पटेल, रिजवान मंसूरी, प्रवीण आशापुरे, मनीष दीक्षित, नीलिमा शाह, रेखा सिंह उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन जितेंद्र मालवीय ने किया एवं आभार ग्रामीण युवा केंद्र के खेल प्रभारी राजेश बराना प्रजापति ने माना।

You cannot copy content of this page

error: Content is protected !!