क्षिप्रा

सबसे बड़ा दान कन्यादान, सबसे बड़ा नाम भगवान श्री राम – संत श्री मोहित नागर

  • श्रीमद् भागवत कथा में 62 जोड़ों का हुआ नि:शुल्क विवाह…
  • समाजसेवी दिलीप अग्रवाल एवं परिवार ने किया कन्यादान…
  • जोड़ो को उपहार में अलमारी, ड्रेसिंग टेबल, टी-टेबल, पलंग, गद्दे, रजाई, 11 बर्तन, वर-वधु के वस्त्र, मंगलसूत्र और रकम दिए…

क्षिप्राखबर @ क्षिप्रा। समाजसेवी दिलीप अग्रवाल एवं परिवार द्वारा आयोजित श्रीमद्भागवत कथा के विराम दिवस पर 62 जोड़ो के नि:शुल्क विवाह समारोह में 20 गांव से आए वर वधु को वैदिक एवं सनातन पद्धति तथा परंपरा के अनुरूप विद्वान पंडितों के आचार्यत्व में विवाह संपन्न कराया गया। अभिजीत मुहूर्त में सभी वर वधु के लग्न हुए। व्यास पीठ के सम्मुख मंगलाचरण के साथ वरमाला और विधिवत्त फेरे संपन्न हुए। आयोजक दिलीप-अनीता अग्रवाल, डॉक्टर अंकित-अनुष्का अग्रवाल, आकाश-राधिका अग्रवाल ने विधिवत 62 जोड़ो का कन्यादान किया। दहेज में प्रत्येक कन्याओं को गोदरेज की अलमारी, ड्रेसिंग टेबल, टी-टेबल, पलंग, गद्दे, रजाई, 11 बर्तन, वर-वधु के वस्त्र, मंगलसूत्र और रकम आदि कन्यादान में भेट की गई। सभी जोड़ों को प्रमाण पत्र भी दिए गए। वर वधु के साथ आए हजारों लोग उपस्थित थे। इसके बाद धूमधाम से बारात निकाली गई। विशाल भंडारे में 51 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने भोजन प्रसादी ग्रहण की। विवाह समारोह में चारो ओर उत्साह का वातावरण नजर आया।

सबसे बड़ा दान कन्यादान है और प्रभु के नाम में सबसे बड़ा नाम राम का है…

श्रीमद् भागवत कथा की सप्तम दिवस पर भागवत आचार्य संत श्री मोहित नागर ने कथा प्रसंग में सुदामा चरित्र के विषय को मार्मिक बनाकर श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया। पं. नागर ने कहा कि प्रभु श्री राम भारत की आत्मा है, वही आत्मा सनातन की परमात्मा है। भगवान शिव ने प्रभु राम की सेवा के लिए अपने अंश को हनुमान के रूप में अवतरित कर दास हनुमान बनकर राम की सेवा कर रहे है। हमारे रामलाल अपने मंदिर में 22 जनवरी को विराजेंगे, 14 वर्ष वनवास के बाद अयोध्या लौटने पर दीप उत्सव मनाया गया था। वही राम 550 वर्ष बाद अपने मंदिर में विराजेंगे तो वह दिन भारत सहित विश्व के सभी सनातनों के लिए दीपावली का दिन होगा। हम अपने घरों के सामने रंगोली सजाकर 11 से 21 दीपक जलाकर अपने घर को अयोध्या जैसा सजाकर प्रभु राम के आगमन का उत्सव मनाना है। पंडित नागर ने कहा कि दान में सबसे बड़ा दान कन्यादान है और प्रभु के नाम में सबसे बड़ा नाम राम का है। जिन्होंने कन्यादान किया उसने कोई और दान किया न किया और जिन्होंने राम का नाम लिया उन्होंने कोई और का नाम लिया ना लिया।

इस महाकुंभ को देख कर ही धन्य हो गया हूं – तुलसी सिलावट…

मध्य प्रदेश शासन के जल संसाधन एवं कैबिनेट मंत्री तुलसीराम सिलावट ने कथा आयोजन में आकर संत श्री मोहित नागर जी से आशीर्वाद लिया। 62 जोड़ों विवाह में। आकर उत्साह भरे भाव के साथ अपने उद्बोधन में कहा कि मेरा यह सौभाग्य है कि मेरी विधानसभा क्षेत्र में समाज सेवी दिलीप अग्रवाल द्वारा 62 कन्याओं का निशुल्क विवाह कर करोड़ो यज्ञ का फल प्राप्त किया जा रहा है। मैं इस महाकुंभ को देख कर ही धन्य हो गया हूं। इस तरह का आयोजन प्रति वर्ष होगा जिसमे मैं हर प्रकार का सहयोग प्रदान करूंगा। कथा में दिलीप अग्रवाल के रिश्तेदारों ने आकर संत श्री का स्वागत किया वही कन्यादान में आभूषण एवं वस्त्र भेंट किये। इस अवसर पर पार्षद गणेश पटेल, पार्षद धर्मेंद्र सिंह बेस, भाजपा नेता सौदान सिंह राजपूत ने संत श्री को अयोध्या राम मंदिर का मॉडल भेंट करके सम्मान किया। विशेष रूप से दिल्ली के प्रसिद्ध व्यवसाय संजय सिंघल, महापौर प्रतिनिधि दुर्गेश अग्रवाल, सभापति रवि जैन सहित अनेक गणमान्य एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। 50 हजार से अधिक महिला एवं पुरुषों ने कथा श्रवण की एवं भव्य विवाह समारोह के साक्षी बने। संचालन चेतन उपाध्याय ने किया। अंत में आभार व्यक्त करते हुए दिलीप अग्रवाल ने कहा कि यह मेरा सौभाग्य है कि मेरे इस संकल्प को पूर्ण करने के लिए आप सब इस समारोह में पधारे।

You cannot copy content of this page

error: Content is protected !!