मध्यप्रदेशदेश-दुनिया

क्षिप्राखबर । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भगवान विश्वकर्मा जन्मोत्सव पर रविवार 17 सितंबर को पीएम विश्वकर्मा योजना की शुरुआत कर दी। आज ही के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी का जन्मदिन भी है। विश्वकर्मा योजना देश के कारीगरों को सर्विस और उत्पाद को सही तरीके से पहुंचाने का काम करेगी। इसके लिए आवेदन करने वालों को 15 हजार रुपये का टूलकिट भी उपलब्ध करवाया जाएगा। इसमें 500 रुपये हर दिन स्टाइपेंड और स्किल को बढ़ाने के लिए ट्रेनिंग भी दी जाएगी।

बतादे कि स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री ने इस योजना की घोषणा की थी। इसके साथ ही केंद्रीय बजट में भी में पीएम विश्वकर्मा योजना का ऐलान हुआ था। केंद्र सरकार इस योजना के लिए 13 हजार करोड़ रुपये प्रस्तावित किए हैं। प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना का मकसद देश के सभी कारीगरों को आर्थिक मदद उपलब्ध करवाना है। इससे उनके कौशल को बढ़ाने में मदद मिलेगी।
पीएम विश्वकर्मा योजना से इन्हें मिलेगा लाभ…
विश्वकर्मा योजना की मदद से पूरे भारत में ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के कारीगरों और शिल्पकारों को सहायता प्रदान किये जाने का लक्ष्य रखा गया है जिसके तहत 18 पारंपरिक व्यवसायों को शामिल किया गया है – पीएम विश्वकर्मा योजना में पत्थर तोड़ने वाले, पत्थरों को तराशने वाले, मूर्तिकार, कुम्हार, सुनार, ताला-चाबी बनाने वाले, हथौड़ा बनाने वाले, लोहार, नाव बनाने वाले, दर्जी, बढ़ई और इन्हीं के जैसे अन्य कारीगरों को शामिल किया गया है। सरकार इस योजना के लिए आवेदन करने वालों को ट्रेनिंग के साथ आईडी और सर्टिफिकेट भी देगी।
15000 रुपये की प्रोत्साहन राशि, दो लाख रुपये तक का लोन…
पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत लाभार्थियों को 15,000 रुपये का टूलकिट प्रोत्साहन प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा जो युवा कौशल कमाई योजना से जुड़कर कारीगर और शिल्पकार के क्षेत्र में प्रशिक्षण लेता है तो उसे इसके साथ ही लाभार्थियों को 500 रुपये प्रति दिन के स्टाइपेंड के साथ आधारभूत कौशल प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। इस योजना में पात्र कारीगरों और शिल्पकारों को सरकार 18 महीने के लिए 1 लाख रुपए का लोन देगी यदि वह हितग्राही लोन की राशि तय समय पर लौटा देता है तो वह एक बार फिर से 30 महीने के लिए 2 लाख रुपये तक का लोन ले सकता है।


पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए ऐसे कर सकते है आवेदन…
पीएम विश्वकर्मा योजना में आवेदन करने के लिए बायोमेट्रिक आधारित पीएम विश्वकर्मा पोर्टल का उपयोग करके सामान्य सेवा केंद्रों के माध्यम से लाभार्थियों का आवेदन किया जाएगा। आवेदन के लिए आपको किसी तरह का शुल्क नहीं लगेगा। इसमें कारीगरों के परिवार का कोई एक सदस्य ही आवेदन कर सकता है। इसके साथ ही इन्हें 3 लाख रुपये का ऋण भी दिया जाएगा। यह पैसा लाभार्थी को दो हिस्सों में दिया जाएगा। इसकी खास बात यह है कि ऋण पर 5 प्रतिशत का रियायत ब्याज दर लगेगी। पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए आवेदन करने के इच्छुक इसके आधिकारिक पोर्टल पर जाकर फार्म भर सकते हैं।

You cannot copy content of this page

error: Content is protected !!