क्षिप्रा

70 करोड़ की सड़कों पर दावों में गुणवत्ता, हकीकत में गुण पर बट्टा

क्षिप्रा से पानोड़ मार्ग पर बन रही सुरक्षा दीवार ढही, सड़को पर हो रहे गड्ढे
क्षिप्राखबर @ क्षिप्रा। सड़कों के निर्माण पर विभिन्न मदों से हर साल करोड़ों रुपये खर्च किए जा रहे। फिर भी सड़कों की हालत ऐसी कि राहगीर इन पर हिचकोले खाते नजर आ रहे है। एक कम सत्तर करोड़ की लागत से बाईस किलोमीटर की सड़क निर्माण की गुणवत्ता के दावे निर्माण कार्य के दौरान ही धंसने लगे हैं। निर्माण में घटिया सामग्री लगा दी जा रही। तय अनुपात में गिट्टी, बालू व सीमेंट का मिश्रण नहीं किया जा रहा। निगरानी करने वाले पता नहीं कहां सोए रहते हैं। ठेकेदार अधिक मुनाफा कमाने व कमीशन के चक्कर में निर्माण कार्य की गुणवत्ता को ताक पर रख रहे हैं।
यह सांवेर विधायक और मंत्री जी की विधानसभा का क्षेत्र है। निर्माण कार्यों को लेकर क्या स्थिति है। इसको लेकर हमारे प्रतिनिधि ने ग्राउंड पर पहुंचकर हकीकत को जाना तो सच सामने आया। मामला क्षिप्रा से पानोड़ तक निर्माणाधीन मार्ग का है। सड़क किनारे बनाई गई सुरक्षा दीवार पूरी तरह से धँस गयी है। ठेकेदार की लापरवाही के चलते कही सुरक्षा दीवारों के सरिये निकलना तो कही स्कूलों में पानी घुसना भ्रष्टाचार के सबूत पेश कर रहा हैं। लेकिन एमपीआरडीसी के अधिकारी इससे बेफिक्र होकर सोये है। तकरीबन बारह गांवो की राह को आसान करने के लिए यहां 69 करोड़ की लागत से सड़क का निर्माण कार्य चल रहा है। मध्यप्रदेश रोड़ डेवेलपमेंट कारपोरेशन लिमिटेड द्वारा सड़क निर्माण कम्पनी को कार्य सौंपकर कुम्भकर्णी नींद में सो गए है। अब ठेकेदार की लापरवाही से निर्माण के दौरान ही कही सड़के उखड़ गई है तो कही सुरक्षा दीवार ही ढह गई। कही स्कूलों में पानी घुस रहा है तो कही डामर उखड़ने लग गया है। कुल मिलाकर सड़क निर्माण की गुणवत्ता के दावे निर्माण कार्य के दौरान ही धँस गए। ठेकेदार द्वारा निर्माण कार्य में घटिया सामग्री लगाई जा रही है। सड़कों के निर्माण में तय मानकों व गुणवत्ता का ख्याल नहीं रखा जा रहा।
अधिकारी झाड़ रहे पल्ला….
क्षिप्रा से पानोड़ तक सड़क पांच वर्ष की ग्यारंटी के साथ बनवाई जा रही है। यदि अगर इस समयावधि में किसी तरह की दीवार धँसना या सड़को में गड्ढे होना पाया जाता है तो ठेकेदार द्वारा कार्य किया जाएगा। — राकेश जैन (एमपीआरडीसी अधिकारी)

You cannot copy content of this page

error: Content is protected !!